[t4b-ticker]

विस्फोटक खुलासा : जिस्मफरोशी करने वाली युवतियों की गिरफ्त में छत्तीसगढ़ पुलिस, कुख्यात युवती के हाथों में पुलिस की पिस्टल, पिस्टल नंबर- 48 का निशाना किसके सीने पर ? एक वरिष्ठ आईपीएस समेत कई अफसरों की जान जोखिम में, एक कद्दावर मंत्री से भी जुड़ रही कड़ियाँ……

अंबिकापुर–
छत्तीसगढ़ पुलिस के कन्धों पर सामान्य और गंभीर अपराधों के अलावा जिस्मफरोशी जैसे सामाजिक अपराधों की रोकथाम की भी जवाबदारी है | लेकिन जब रक्षक ही जिस्मफरोशी का लुफ्त उठाने लगे तो स्वाभाविक है कि इस कारोबार की दिन दूनी रात चौगुनी प्रगति से इंकार नहीं किया जा सकता | ताजा मामला सरगुजा रेंज का बताया जा रहा है | जानकारी के मुताबिक जिस्मफरोशी के कारोबार से कई पुलिसकर्मियों का नाता बेहद करीब से जुड़ने का खुलासा हुआ है | ये पुलिसकर्मी इसकी रोकथाम में नहीं बल्कि इसके प्रसार में खाकी वर्दी की आन, बान  और शान को भी कुर्बान कर रहे है |
दोनों के बीच करीबी नाता जुड़ने के बाद सामने आया गंभीर तथ्य यह है कि जिस्मफरोशी करने वाली युवती के हाथों में सरकारी पिस्टल तक थामा दी गई है | वैधानिक सबूतों के आधार पर जिस्मफरोशी करने वाली इलाके की एक कुख्यात युवती के हाथों में थामी गई पिस्टल नंबर – 48 को देखकर सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि राज्य में कानून व्यवस्था किस ओर रुख कर रही है | बताया जाता है कि जिस ‘शख्स’ को यह पिस्टल आवंटित की गई है, उसका एक कद्दावर मंत्री के साथ गोपनीय रूप से उठने – बैठने का भी दावा किया जा रहा है | यही नहीं जानकारी तो यह भी आ रही है कि जिस्मफरोशी करने वाली कुछ युवतियां खुलेआम कुछ वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों का नाम लेकर अपने ताल्लुकातों का हवाला दे रही है |
उनकी पहुँच सरगुजा के जंगलों में स्थित होटलों, रेस्टहाउस से लेकर राजधानी रायपुर के गुमनाम ठिकानों तक बताई जा रही है | बड़े अफसरों के पद और पावर के अलावा शराब – ड्रग्स के नशे में धुत्त होकर जिस्मफरोशी करने वाली युवतियां कभी भी किसी भी गंभीर वारदात को अंजाम दे सकती है | ऐसी युवतियों के हाथों में पिस्टल आ जाने के बाद तो अंदेशा यही जाहिर किया जा रहा है | दरअसल इन दिनों सोशल मीडिया में एक 22 सेकंड का वीडियो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है, इस वीडियो में छत्तीसगढ़ में पुलिस और जिस्मफरोशी करने वाली युवतियों के बीच करीब का नाता प्रदर्शित किया जा रहा है | वीडियो में जिस्मफरोशी करने वाली यह युवती एक हाथ में नोटों की गड्डी तथा दूसरे हाथ में पिस्टल पकड़े ‘आई लव’ कहते हुए नोट के बंडल को चूम रही है |
यही नहीं वो दूसरे हाथ से 9mm का पिस्टल मोबाइल कैमरे में दिखाते हुए कह रही है कि “यह पिस्टल भी मिल गया, जो भी धोखा देगा उसे ठोक दूंगी” | पिस्टल का वीडियो उसके द्वारा बाएं – दाएं और सामने से दिखाते हुए वाकिफ कराया जा रहा है कि वो इस सरकारी पिस्टल से भी लैश है |  वीडियो में दिखाए गए पिस्टल को ध्यान में रखते हुए जानकारों से चर्चा की | उनकी राय में इस पिस्टल की जो संभावना व्यक्त की गई है वह हैरत करने वाली है | जानकारों के ताबिक यह कोई सामान्य पिस्टल नहीं है बल्कि पुलिस महकमे की प्रतीत होती है |
उनके मुताबिक यह 9mm a1 सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल है जो पश्चिम बंगाल की ईसापुर फैक्ट्री में बनती है। इसमें 13 राउंड की मैगज़ीन लगती है, इसकी मारक क्षमता 50 मीटर है, मैगज़ीन के साथ वजन 1.075 kg. होती है और इसके बैरल की लंबाई 120mm कुल लम्बाई  205 mm है। उनके मुताबिक यह भारत में केवल राज्य पुलिस तथा अन्य सुरक्षाबलों को ही इश्यू हो सकती है अर्थात सामान्य व्यक्ति को इसका लाइसेंस नहीं दिया जा सकता। इस युवती के हाथों में थामी गई पिस्टल के बट में 48 नंबर का संख्या जिस फोंट नंबर में लिखा है, उसे देखकर प्रथम दृष्टया यह सरगुजा पुलिस रेंज की प्रतीत होती है | 
| दरअसल नियमों के मुताबिक आपराधिक वारदातों में पीड़ितों की पहचान जाहिर नहीं की जा सकती | लेकिन इस मामले में फ़िलहाल कोई पीड़ित पक्ष नजर नहीं आ रहा है | लिहाजा अपराध के अंदेशे और लोगों की सतर्कता के लिए हाथों में पिस्टल थामे इस युवती की शिनाख्ती की संभावना है | उम्मीद की जा रही है कि ‘राज्य सरकार’ इस मामले को गंभीरता से लेते हुए हकीकत उजागर करेगी |

समचार विला ने जनहित और सामाजिक सरोकारों को ध्यान में रखते हुए इस खबर का प्रकाशन किया है |