Breaking News

छत्तीसगढ़ पुलिस पर फिर लगा वसूली का दाग… दो आरक्षक अवैध वसूली करते गिरफ्तार

जांजगीर-चांपा जिले के शिवरीनारायण थाना में पदस्थ दो आरक्षकों को अवैध वसूली करने के जुर्म में बिलाईगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किया हैं। मिली जानकारी के अनुसार शिवरीनारायण थाना में पदस्थ जनक राम कश्यप और पती राम यादव दोनों आरक्षक 112 की टीम में तैनात हैं। दोनों आरक्षक ड्यूटी खत्म कर सुबह 5 बजे अपने थाना क्षेत्र को छोड़कर बलौदाबाजार जिले के बिलाईगढ़ थाने अंतर्गत आने वाले गाँव टूण्डरी में अवैध वसूली करने गए थे। दोनों आरक्षकों ने सारंगढ़ बलौदाबाजार मुख्य मार्ग में जा रहे नरेश कुम्भकार व महेश महानन्दा को गांजा की तश्करी करते हो कह के पकड़ा और उनसे 2 लाख की मांग की। जब दोनों व्यक्तियों ने राशि नही होने की जानकारी दी तो आरक्षकों ने डराना धमकाना शुरू कर दिया। आरक्षकों के कहने पर नरेश कुम्भकार ने अपने फोन से अपने रिश्तेदार रामकुमार तांडी पिता मुक्ति तांडी उम्र 40 वर्ष निवासी महासमुंद को फोन लगाया और 2 लाख रुपये आरक्षकों द्वारा की गई मांग की जानकारी दी। रिश्तेदारों को झूठे केस में फसाने व 2 लाख पैसे की मांग किये जाने की जानकारी रामकुमार तांडी ने बिलाईगढ़ पुलिस को दी। मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रशिक्षु डीएसपी तरेश साहू ने तत्काल घटना में संज्ञान लेते हुए दोनों आरक्षकों को गिरफ्तार कर लिया और आरक्षकों के विरुद्ध आईपीसी की धारा 384 के तहत मामला पंजीबद्ध किया  हैं। बताया जा रहा है कि दोनों आरक्षकों के साथ तीन स्थानीय ग्रामीण भी इस वारदात में शामिल हैं। इन्हें भी बिलाईगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया हैं। बिलाईगढ़ पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई हैं। पूर्व में भी शिवरीनारायण थाना के दोनों आरक्षकों का नाम गांजा तश्करो के साथ साठगांठ कर मामले को निपटाने में लगा था। जिसकी जांच ठीक ढंग से नही होने के कारण दोनों आरक्षक बच निकले थे। लेकिन इस वारदात ने दोनों आरक्षकों की अवैध वसूली करने की बात को सही साबित कर दिया हैं। देखने वाली बात होगी कि दोनों आरक्षकों के खिलाफ पुलिस अधीक्षक किस तरह की कार्रवाई करती हैं।