Breaking News

ज्वाईनिंग लेटर फर्जी निकलने पर पीड़ित को हुआ ठगी का अहसास….
रेलवे में नौकरी लगाने के नाम पर 10 लाख की ठगी,
पुलिस ने किया अपराध दर्ज

बिलासपुर –
रेल्वे में टीटीई बनाने का ख्वाब दिखाकर ठग ने बेमेतरा के एक साहू परिवार को लूट लिया। ठगे जाने के ऐहसास होने के बाद प्रार्थी ने मंगलवार को सिविल लाइन थाने में आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। बेमेतरा जिले के ग्राम हरदास निवासी कुलदीप साहू भिलाई में बीएड की पढाई कर रहा है। इसी बीच उसके परिचित के नीलकण्ठ ठाकुर के माध्यम से कपिलेश्वर पुरी गोस्वामी से जान पहचान हुई थी। कपिलेश्वर ने छात्र को रेल्वे में नौकरी लगाने का झांसा दिया। इसके एवज में पैसे की मांग की। आरोपी ने रेल्वे में अपनी ऊची पहुँच का धौस दिखाकर प्रार्थी को टीटीई बनाने का ऑफर किया। नौकरी के एवज में ठग ने 5 लाख रुपए की मांग की। तब छात्र अपनी सगी बहन विभा साहू की भी नौकरी लगवाने की इच्छा जाहिर की। तब आरोपी कपिलेश्वर पुरी गोस्वामी ने दोनों के नौकरी लगाने 10 लाख रुपए में सौदा पक्का हुआ। जिसके बाद 20 सितंबर 2018 को दोपहर करीब 3 बजे पीड़ित छात्र ने अपनी बहन विभा साहू, मां किरते साहू और नीलकण्ठ ठाकुर के साथ मंगला स्थित कपिलेश्वर के घर पहुंचे जहां आरोपी कपिलेश्वर उसकी पत्नी प्रतिमा (मीना) गोस्वामी ,नवीन तिवारी सहित अन्य लोग माजूद थे। आरोपी के घरवाले रेल्वे में नौकरी लगाने की बात पर चर्चा कर रहे थे। उसी समय पीड़ित ने आरोपी कपिलेश्वर को नगदी 5 लाख रुपए दिए। इसके पूर्व 9 सितंबर 2018 को पीड़ित ने कपिलेश्वर पुरी के घर आकर 4 लाख 51 हजार रुपए नगदी दिए थे। इसके बाद 49 हजार रुपए कपिलेश्वर पुरी गोस्वामी के एकाउन्ट नंबर 50180004390760 में दिनांक 17 नवंबर 2018 को जमा किए थे। इस तरह पीड़ित छात्र ने आरोपी कपिलेश्वर पुरी को कुल 10 लाख रुपए दिए थे। जिसे लेकर कपिलेश्वर पुरी गोस्वामी ने छात्र और उसकी बहन को टीटीई पद पर ज्वाईन करने के लिए जॉइनिंग लेटर दिया था। पीड़ित छात्र ने लेटर के संबंध में रेल्वे विभाग में पता किया। तब बताया गया कि जॉइनिंग लेटर फर्जी है। जिसके बाद प्रार्थी को ठगे जाने का एहसास हुआ तब जाकर उन्होंनेे आरोपियों के खिलाफ सिविल लाइन थाने में एफआईआरदर्ज कराई है, मामले में सिविल लाइन पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच में जुट गई है।
जमीन बेच,लोन लेकर दी रकम,आरोपी ठग के झांसे में अन्य जिलों के प्रार्थी भी शामिल,,जांच में हो सकते है कई अहम खुलासे..
पीड़ित छात्र के अनुसार नौकरी पाने के लिए उसने दस लाख रुपए आरोपी को दिए है। इसके लिए उन्होंने बैंक से लोन लिया है, इसके अलावा जमीन बेचकर रकम कपिलेश्वर पुरी को दिए है। जब प्रार्थी को पता चला की वह ठगा गया तो उसने अपने स्तर पर आरोपी के बारे में जानकारी ली। जहाँ कई अन्य कड़ी भी उसके सामने आई। जिसमे आरोपी कपिलेश्वरपुरी ,मीना ऊर्फ प्रतिमा गोस्वामी,नवीन तिवारी ने उनके अलावा कोरबा के निवासी पवन कुमार, आलोक चौहान, चित्रभान सहित अन्य के साथ भी नौकरी लगाने का झांसा देकर धोखाधड़ी किया है। बहरहाल इस मामले में पुलिसिया जांच में कई अहम खुलासे होने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *