Breaking News

मामा-भांजा की हत्या,हत्या के चंद घंटों के बाद आरोपी पकड़ाए,पूछताछ के बाद छेड़छाड़ का मामला सामने आया

बिलासपुर-

मस्तूरी के कर्रा गांव में दोहरी हत्याकांड का खुलासा पुलिस ने कर दिया है.मस्तूरी थाना प्रभारी ने बताया मामला पुरानी रंजिश और छेड़छाड़ को लेकर हुआ है.हत्या के तीनों आरोपियों धर्मेंद्र केवट, मनोज केवट और दिलीप केवट को गिरफ्तार कर लिया गया है.मृतक मामा सोनू राम केवट और सेवालाल केवट के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में  रखा गया है।

मस्तूरी थाना प्रभारी फैजुल शाह ने बताया कि कर कर्रा निवासी मुन्ना लाल केवट अपने रिश्तेदार शिवलाल केवट के साथ मस्तूरी थाना रिपोर्ट लिखाने पहुंचा प्रार्थी ने बताया कि 1 जुलाई की रात्रि को कर्रा गांव के ही दिलीप केवट और धर्मेंद्र केवट ने मिलकर शिवलाल से मारपीट की.जिसकी रिपोर्ट थाने में पहुंचकर दर्ज कराया गया था.आज सुबह मारपीट के तीनों आरोपी दिलीप केवट, धर्मेंद्र केवट और मनोज केवट ने मिलकर सोनू राम केवट और उनके भांजे सेवालाल केवट की हत्या कर दी है
प्रार्थी ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि सोनू राम केवट आज सुबह करीब 5:00 बजे अपनी मोटरसाइकिल से खपरी से आ रहा था.इसी बीच सोल सोनू राम केवट को दिलीप केवट घर के सामने मिल गया.सोनू राम ने दिलीप केवट से पूछा रात को उसके बेटे को क्यों मारे देखते ही देखते बातचीत जोर से होने लगी।बातचीत के दौरान ही दिलीप केवट और धर्मेंद्र केवट तब्बल नुमा हथियार से सोनू राम केवट पर हमला कर दिया इस नजारे को दूर खड़ा सोनू लाल का भांजा सेवाराम के देख रहा था.उसके साथ पत्नी भी थी.मामा को मार खाते देख बीच बचाव करने दौड़ा .इतने में ही दिलीप और धर्मेंद्र केवट का भाई मनोज केवट पीछे से हाथ पकड़ लिया और दिलीप धर्मेंद्र ने सेवालाल पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया घटना में सोनू राम केवट और भांजा सेवालाल की मौके पर ही मौत हो गई.

रिपोर्ट लिखे जाने के बाद मामले की जानकारी पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल को दी गई.मस्तूरी थाना प्रभारी फैजल शाह ने बताया कि तत्काल पुलिस की टीम कर्रा गांव स्थित मौके के लिए रवाना हुई.दोनों के शव को बरामद किया गया पंचनामा कार्रवाई के बाद पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया गया.इस बीच दिलीप केवट और धर्मेंद्र केवट को गिरफ्तार किया गया.साथ ही कुछ घंटे बाद फरार तीसरा आरोपी मनोज केवट को घेराबंदी के बाद पकड़ा गया.
मस्तूरी थानेदार ने बताया कि पूछताछ के दौरान आरोपियों ने जानकारी दी कि सोनू राम केवट का छोटा बेटा उसके घर की लड़की से छेड़छाड़ करता था.मामले को लेकर शिवलाल केवट और उसके पिता को समझाया गया.बावजूद इसके शिवलाल अपनी हरकतों से बाज नहीं आया.आरोपियों ने बताया कि दूसरे दिन शिवलाल केवट का पिता सोनू राम केवट खत्री से अपनी मोटरसाइकिल से आ रहा था.सुबह मछली मारने जा रहे दिलीप केवट से उसकी बातचीत हो गई इसके बाद सोनू राम की मारपीट के दौरान मौत हो गई.जबकि बीच-बचाव करने पहुंचे भांजा सेवालाल ने भी  कुल्हाड़ी की चोट से दम तोड़ दिया।राजू स्वामी बताया कि तीनों आरोपियों के खिलाफ 302 और 34 का अपराध दर्ज किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *