Breaking News

बैंक के ब्रांच मैनेजर और उसके सहायक को 10 हजार रुपयों की रिश्वत लेते Acb ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया

महासमुन्द

ACB प्रदेश में रिश्वतखोर अफसरों पर लगातार कार्रवाई कर रही है, बावजूद प्रकरण कम होने का नाम नहीं ले रहा है,ACB एक ऐसी ही कार्रवाई में ग्रामीण बैंक के मैनेजर व चौकीदार को गिरफ्तार किया है, बैंक मैनेजर एक किसान से 10 हजार रुपये रिश्वत ले रहा था, जबकि चौकीदार इस मामले में मैनेजर के साथ संलिप्त था, इस मामले में एसीबी ने दोनों को रंगेहाथों गिरफ्तार किया है,मामला महासमुंद जिले के सिंघोड़ा ग्रामीण बैंक शाखा का है। आरोपी शाखा प्रबंधक जिसका नाम मनीष प्रभाकर है

जानकारी के मुताबिक मैनेजर किसान से दस हजार रूपये रिश्वत की मांग कर रहा था। जानकारी के मुताबिक KCC ऋण प्रकरण समाप्त हो जाने पर उसकी भूमि को बंधक से हटाया जाने का प्रकरण मैनेजर ने रोक कर रखा था और लगातार पैसे की डिमांड की जा रही थी,जिसके बाद परेशान होकर किसान ने एसीबी, रायपुर में शिकायत की, एसीबी की जांच में किसान की शिकायत सही पायी गयी,

जिसके बाद ईओडब्ल्यू एवं एसीबी चीफ आरिफ एच. शेख ने पुलिस अधीक्षक एसीबी पंकज चंद्रा को त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिये। जिसके बाद डीएसपी शैलेन्द्र पाण्डेय, एसीबी, रायपुर की अगुवाई में टीम गठित की गयी एवं उक्त टीम के द्वारा आज कार्यालयीन समय में आरोपी शाखा प्रबंधक मनीष प्रभाकर एवं उसके साथी चौकीदार हेमलाल यादव को बैंक कार्यालय में ही रिश्वत की रकम लेते हुए रंगे हाथो गिरफ्तार किया गया है

आरोपियों के विरूद्ध धारा 7, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध कर नियमानुसार विधिक कार्यवाही कर माननीय न्यायालय न्यायिक अभिरक्षा भेजा जा रहा है..