Breaking News

पुलिस अधीक्षक पर आरक्षक भारी….
पुलिस अधीक्षक सरगुजा का गनमैन अवैध लकड़ी परिवहन करते पकड़ाया….

जब कप्तान हो सुस्त तो सिपाही करे लकड़ी की चोरी…
खाकी ने खाकी से निभाई वफादारी, आखिर क्यों संयुक्त कार्यवाही का दिया गया नाम?

अंबिकापुर – 

जी हां ये मात्र तुकबन्दी नहीं बल्कि सरगुजा पुलिस की सच्चाई है अभी जुमा जुमा आठ दिन नहीं बीते हैं नशे के मामले में संलिप्त कोतवाल के लाइन अटैच हुए कि ताजा कारनामा सरगुजा पुलिस का सामने है, दरअसल मामला वन परीक्षेत्र अंबिकापुर का है दिनांक 01/10/2020 करीब सुबह 11:00 बजे वन विभाग के कर्मचारियों ने सफेद रंग की पिकअप वाहन क्रमांक CG 15 AC 1226 को अवैध लकड़ी परिवहन करते हुए पकड़ा, उस वक्त वाहन को आरक्षक प्रमोद सोनी चला रहा था, जिसके साथ वाहन का मूल चालक राणा रविंद्र सिंह भी मौजूद था।
वाहन को रोककर वन अमला ने जब परिवहन कर रहे अवैध लकड़ी के मूल दस्तावेज मांगे तो वर्दी के नशे में चूर आरक्षक प्रमोद वन कर्मचारियों को गंदी-गंदी गाली गलौज करते हुए अपना परिचय सरगुजा एस०पी० टी० आर० कोसीमा का गनमैन बता बल का प्रयोग करते हुए उक्त अवैध लकड़ी को से भरी पिकअप वाहन को सीधा रक्षित केंद्र अंबिकापुर के मुख्य गेट से होते हुए रक्षित केंद्र में खड़ी शासकीय वाहनों के बीच ले जाकर छुपा दिया, उक्त वाहन का पीछा करते वन अमला मौके पर पहुंच जाती है, पुलिस कैंपस में अन्य वन वर्दीधारियों को देखकर रक्षित केंद्र के मुख्य अधिकारी के रूप में वहां मुकेश जोशी दौड़े चले आए। अपने अधिकारी की मौजूदगी में भी आरक्षक प्रमोद वन विभाग के कर्मचारियों को गाली-गलौज करते हुए यह कहता हुआ नजर आता है, कि मेरे विभाग के बगैर तेरा विभाग (वन विभाग) कुछ नहीं कर सकता, रक्षित केंद्र प्रभारी के समझाइश के बाद कहीं जाकर आरक्षक का गुस्सा शांत होता है।
इतने में वन विभाग के एस०डी०ओ० विजेंद्र सिंह ठाकुर व वन परीक्षेत्र अधिकारी गजेंद्र दोहरे के साथ भारी संख्या में वन कर्मी रक्षित केंद्र पहुंचते हैं, रक्षित केंद्र प्रभारी, एस०डी०ओ० व वन परीक्षेत्र अधिकारी के बीच करीब आधे घंटे का गोपनीय मीटिंग के पश्चात वन अमला द्वारा अवैध लकड़ी लोड पिकअप वाहन को जब्ती कर छत्तीसगढ़ परिवहन अधिनियम वनोपज नियम 2001 (3) (ख) के अनुसार भू राजस्व संहिता 195 की धारा 240 (3) के अंतर्गत तथा छत्तीसगढ़ अभिवहन अनुपात नियम 2001 (2) (ख) के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों के तहत अपराध क्रमांक – 10880/25 प्रकरण दर्ज कर जब तक वाहन को राजसात करने की अनुशंसा की जाती है। वाहन में शिशु प्रजाति के 06 नग लट्ठा 0.917 घन मीटर जप्त किया गया।
एक और राज्य के पुलिस मुखिया डी०एम० अवस्थी व सरगुजा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक सीना ठोक के कहते हुए नजर आते हैं कि कोई भी पुलिस कर्मचारी व अधिकारी किसी भी अवैध कार्यों में संलिप्त पाया गया तो तत्काल कार्यवाही की जाएगी, पर यहां तो उल्टी गंगा ही बह रही है, सरगुजा पुलिस कप्तान सारे नियमों को ताक में रखते हुए, ऊपर से बनाए गए नियम-कायदों की धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे हैं।